सोमवार, 27 अगस्त 2012

(लघुकथा) अथकथा राजनीति‍



एक देश था. देश में लोकतंत्र था. उस देश में दो राजनीति‍क पार्टि‍यां थीं.

जो पार्टी सत्‍ता में थी, उसके पास लीडर नहीं था इसलि‍ए उसके लोग लीडर खोजते रहते थे.

जो पार्टी वि‍पक्ष में थी, लीडर उसके पास भी नहीं था. वे भी लीडर खोजते रहते थे क्‍योंकि‍ उनके यहां जो लीडरी के क़बि‍ल था उसे वे लीडर बनने ही नहीं देना चाहते थे.
00000