शनिवार, 3 दिसंबर 2011

दुनिया

दुनिया
बहुत ख़ूबसूरत है.

बात बस इतनी सी है कि
कौन किस नज़र से देखता है.

अपना नक़ाब उतारो
आओ इसे साथ-साथ देखें.

         00000